Online Poster Competition


Kirunstheworld Online Poster Competition - Logo - International Women's Day
Empower for an Equal and Enabled World

The Last Date for the Submissions has Expired. The results for the competition will be declared on 08/03/2020

Development in all its dimensions must be inclusive of all people, everywhere, and should be built through the participation of everyone, especially the most vulnerable and marginalized.

Equal access to education, health, food and nutrition, decent work, and representation in political and economic decision making processes are not only rights women should have, they benefit humanity at large.

Women and girls in India continue to suffer discrimination and violence. Gaps in gender equality exist in every sector- education, workforce, political participation, health, nutrition. For example, almost half of India’s women and girls continue to suffer from Anemia(hemoglobin levels less than 11 gm%) since past couple of decades. Girls and boys both go to primary school but we see less girls in higher education. In 2016, close to a third of total crimes reported against women in India was cruelty or physical violence by her husband or his relative.

Empowerment of women and girls is the key to achieve a balanced and sustainable world. Empowerment is a process through which women improve their self esteem, become confident, access and gain control over resources including spaces and gain decision making power.

There are several paths for journey towards empowerment. For some getting educated to higher levels is the way, for some earning money and becoming self reliant is the way. Whatever is the way, women and girls need to break the gender stereotypes and create their own ways towards equality. And it the responsibility of the society to provide a supportive environment for women’s empowerment.

International women’s day 8th March celebrates women’s gain for equal wages for equal work. As the world moves towards achieving sustainable development goals. The theme this year “An Equal world is an Enabled world” is apt for a sustainable world.

CHETNA believes that health and nutrition status of women and girls is directly influenced by their status in the society. CHETNA’s journey of 39 years is with mission to empower women and girls from disadvantaged social sections so that they gain control over their own, families and communities health and nutrition . Please refer www.chetnaindia.org for further details about CHETNA’s efforts.

CHETNA Invites You to Join Us to Celebrate

International Women’s Day – 8th March, 2020

An online poster competition

logo-dark
– Empower for an Equal and Enabled World.

Let your imagination flow, think of a world
where women and girls are empowered,
where their skills, knowledge are valued,
where they are free to move,
where they can decide for themselves.

Who can Participate

  • Entries are invited by Indian individuals and organization in form of posters.
  • The design submitted should be original work based on their learning & experiences.
  • The work /design should not be previously published.
  • It must not include any copyright material.

Opening of Online Submissions

26/01/2020

Last Date for Submission of Entries

26/02/2020

Online Announcement
of Results

08/03/2020

Awards

  • Three best submissions/posters will be awarded cash prize and a certificate.
  • Appreciation and participation certificate will be given to all selected entries.
  • An online exhibition will be organized for all the submissions/ posters.

Rules and Regulations

  • Participation is Free. It is compulsory to share the Basic Information for an individual/organization/team at the time of submitting the poster.
  • An individual/ organization / team can submit maximum two posters.
  • Design must be presented in vertical format. Landscape / horizontal format entries will not be considered valid for competition.
  • Poster/Submission must not contain any logo.
  • Poster/Submission shall be anonymous during the judging process therefore they must not be signed by the author or bear any other distinguishing marks.
  • Entries must be submitted in JPEG (RGB) format/file of 2953 X 4234 pixels at a resolution of 150 DPI.

 

Entry validity

  • Any valid entry from an eligible participant received within the competition time frame will be submitted to the Jury.
  • A valid entry is one that matches the entire requirement as specified in rules and regulation section.
  • Entries that are not relevant to the brief or don’t match the requirements as specified in section rules and regulation section will be excluded from the competition at the discretion of the jury.
  • Entries should be in Hindi or English language only . Entries in any other language will not be valid for the competition.

 

 

About Jury

The jury committee will consist of experts from non government organizations working in the field of gender and women empowerment and design professionals. The Jury will be announced in February 2020 on CHETNA’s website.
 

Selection procedure

  • The poster submitted by the entrants on online platform will be short listed as per the set criteria.
  • The Jury will examine the shortlisted designs and will declare the three best entries.
  • The three selected best entries will get cash prize of Rs 5000. All selected posters will get appreciation certificates from CHETNA.
  • All selected entries will be entitled for getting displayed in a digital compilation.

 

Feel free to reach out in case of any queries or concerns on publication@chetnaindia.org or
WhatsApp to: Vd.Smita Bajpai – 96243 36044, Anil Gajjar – 83200 73256.

The last date to submit the designs has passed away. The final results will be declared on 08/03/2020

समग्र विकास प्रक्रियाओं में, सभी लोगों का, विशेष कर वंचित और हाशिए पर रहने वाले लोगों का, सभी जगहों पर समावेश होना चाहिए| विकास में सभी की भागीदारी होनी चाहिए|

शिक्षा, स्वास्थ्य, आहार और पोषण, अच्छे काम के समान अवसर तथा राजनैतिक /आर्थिक फैसलों में भागीदारी ये केवल महिलाओं के अधिकार ही नहीं अपितु समग्र मानवता के लिए हितकारी है|

भारत की महिलाएँ और बेटियाँ भेदभाव और हिंसा का सामना करती आ रही हैं | हरेक क्षेत्र में – शिक्षा, कर्मीदल , राजनैतिक सहभागिता, स्वास्थ्य , पोषण आदि जेन्डर गैप –लैंगिक अंतर पाया जाता है | उदहारण के तौर पर भारत की लगभग आधी महिलाएँ एनीमिया से पीड़ित हैं (खून में हिमोग्लोबिन की मात्रा 11gm% से कम ) और पिछले कुछ दशकों से इसमें कोई परिवर्तन नहीं आया है | लगभग सभी बेटियाँ और बेटे दोनों ही प्राथमिक शिक्षा पा लेते हैं परन्तु बहुत कम बेटियाँ उच्च शिक्षा प्राप्त करती हैं | वर्ष 2016 में महिलाओं के सामने हुई हिंसा के दर्ज हुए किस्सों में से एक तिहाई किस्से पति या रिश्तेदार द्वारा की गई क्रूरता और शारीरिक हिंसा के थे |

एक संतुलित और टिकाऊ विश्व की चाभी है महिला और बेटियों का सशक्तिकरण | सशक्तिकरण एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा महिलाओं का आत्मसम्मान बढ़ता है, उनका आत्मविश्वास बढ़ता है, उनकी निर्णय लेने की क्षमता बढती है| संसाधनो तक महिलाओं और बेटियों की पहुँच और उन पर उनका नियंत्रण बढ़ता है, जिसमे वे जगह भी शामिल हैं जिन तक महिलाओं की पहुंच नहीं है|

सशक्तिकरण की यात्रा के लिए कई रास्ते हैं | किसी के लिए शिक्षा के उच्च स्तर प्राप्त करना तो किसी के लिए खुद कमाई करना और आत्म निर्भर बनना सशक्तिकरण की और ले जाने वाला रास्ता है | रास्ता चाहे कोई भी हो महिलाओं और बेटियों के लिए जरूरी है रूढिगत सामाजिक भूमिकाएँ बदलना और समानता की और खुद की राह बनाना | ऐसे में समाज की ज़िम्मेदारी बनती है की महिलाओं और बेटियों के सशक्तिकरण के लिए सहयोग करना, उन्हें प्रेरित करना और एक सहयोगी वातावरण निर्माण करना |

8 मार्च आंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, समान काम के समान दाम के लिए महिलाओं के संघर्ष और विजय का उत्सव है | अब जब पूरा विश्व टिकाऊ लक्ष्य प्राप्त करने की दिशा में अग्रसर है, इस वर्ष का विषय “एक समान विश्व ही सक्षम विश्व है” बहुत ही उचित है |

चेतना, अहमदाबाद का मानना है की महिलाओं और बेटियों का स्वास्थ्य और पोषण स्तर समाज में उनके दर्जे से सीधा प्रभावित है | चेतना की 39 वर्ष की यात्रा, वंचित समुदाय की महिलाओं और बेटियों को सशक्त करने के लिए है ताकि वे स्वयं के, अपने परिवार और समाज के स्वास्थ्य और पोषण पर नियंत्रण पा सकें | चेतना के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया www.chetnaindia.org देखें |

चेतना आपको आमंत्रित करती है

आंतरराष्ट्रीय महिला दिवस – 8 मार्च 2020

एक ओन लाइन पोस्टर प्रतियोगिता

logo-dark
– एक समान और सक्षम विश्व के लिए सशक्तिकरण!

अपनी कल्पना शक्ति को बहने दीजिये|एक ऐसे जहाँ की कल्पना कीजिये
जहाँ महिला और बेटियाँ सशक्त हैं,
उनके हुनर और ज्ञान का सम्मान है,
जहाँ वे मुक्त रूप से घूम सकती है,
जहाँ वे अपने लिए फैसले ले सकती हैं|

कौन हिस्सा ले सकते हैं

  • भारतीय व्यक्ति, टीम या संस्था इस पोस्टर प्रतियोगिता में हिस्सा ले सकते हैं|
  • इस प्रतियोगिता में भेजा गया पोस्टर, स्वयं की सीख और अनुभव पर आधारित मौलिक रचना होनि चाहिए, जो पहले कहीं और प्रकाशित नही हुआ हो|
  • पोस्टर में किसी भी प्रकार की कोपीराईट सामग्री का उपयोग नही होना चाहिए|

ऑनलाइन सबमिशन खुलने की तारीख

26/01/2020

ऑनलाइन सबमिशन की अंतिम तारीख

26/02/2020

परिणाम की ओन लाइन घोषणा

08/03/2020

एवार्ड / पुरस्कार

  • तीन सर्वोत्तम पोस्टर, प्रत्येक को 5000 रूपये का नक़द पुरस्कार और प्रमाण पत्र दिया जाएगा|
  • सभी चयनित पोस्टर को प्रोत्साहन प्रमाण पत्र दिया जाएगा|
  • चुने हुए पोस्टर को चेतना की वेबसाईट पर ओन लाइन प्रदर्शित किया जाएगा|

ओनलाइन पोस्टर प्रतियोगिता के नियम

  • प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए पंजीकरण अनिवार्य और नि:शुल्क है | हरेक व्यक्ति / संस्था / टीम को प्रतियोगितामें हिस्सा लेने के लिए www.chetnaindia.org से रजिस्ट्रेशन /पंजीकरण करना होगा|
  • एक व्यक्ति / संस्था / टीम अधिक से अधिक दो पोस्टर सबमिट कर सकते हैं |
  • पोस्टर की डिज़ाइन वर्टिकल (खड़ा) फोर्मेट में होनी चाहिए | लेंड स्केप या आड़ी डिज़ाइन के पोस्टर प्रतियोगिता के लिए अमान्य होंगे|
  • प्रतियोगिता के फैसले की प्रक्रिया गुमनाम होगी इसलिए भेजे गये पोस्टर में कोई भी लोगो / कलाकार के या अन्य हस्ताक्षर या संकेत या चिन्ह / कलाकार का नाम या उपनाम / अन्य पहेचान चिन्ह/संकेत नही होना चाहिए| ऐसी एन्ट्री अमान्य होंगी|
  • पोस्टर को सबमिट इस फोरमेट में करें -JPEG (RGB) format / file 2953 X 4234 pixels at a resolution of 150 DPI

 

मान्य एन्ट्री

  • प्रतियोगिता की समय-सीमा में, पंजीकृत व्यक्ति/टीम/संगठन द्वारा भेजी गई एन्ट्री ही निर्णायकों को प्रस्तुत की जाएगी |
  • मान्य एन्ट्री वही है जो बताए गए सभी नियमो का पालन करते हुए, नियमानुसार हों|
  • बताए गए दिशा निर्देश से असम्बंधित या बताए गए नियमों से तालमेल नही रखते हों ऐसे पोस्टर निर्णायकों के फैसले के अनुसार प्रतियोगिता से बाहर कर दिए जाएंगे|
  • पोस्टर की भाषा हिंदी या अंग्रेजी रहेगी | अन्य भाषा में भेजे गए पोस्टर प्रतियोगिता के लिए मान्य नहीं रहेंगे|

 

 

निर्णायक या जूरी के विषय में

जेंडर और सक्षमता में कार्यरत स्वयंसेवी संस्था के विशेषज्ञ तथा वरिष्ट डिज़ाइन प्रोफेशनल इस प्रतियोगिता के निर्णायक/जूरी होंगे| जूरी की घोषणा फरवरी 2020 में चेतना की वेबसाईट पर की जाएगी|
 

चयन प्रक्रिया

  • पंजीकृत सहभागी द्वारा भेजे गए पोस्टर पूर्व निर्धारित मापदंड के आधार पर चुने जाएँगे|
  • चुने हुए पोस्टर को निर्णायक गण परखेंगे और तीन सर्वोत्तम कृति घोषित करेंगे|

 

यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो हमें publication@chetnaindia.org पर ईमेल करें या हमें Vd. Smita Bajpai – 96243 36044, Anil Gajjar – 83200 73256 पर WhatsApp करें।

डिजाइन जमा करने की आखिरी तारीख बीत चुकी है। अंतिम परिणाम घोषित किए जाएंगे 08/03/2020